विदेश

इथोपिया विमान हादसे में एक गुजराती परिवार के तीन पीढ़ियों के लोग चल बसे

ब्रैंपटन। भारत से तीन दशक पहले सुनहरे भविष्य के लिए कनाडा में आकर बसे मनंत वैद्य और पत्नी हिरल वैद्य के घर में रविवार सुबह से ही सन्नाटा पसरा हुआ है। आस-पड़ोस के प्रवासी भारतीय एक-एक कर वैध परिवार के प्रति संवेदना और सांत्वना देने आ रहे हैं। नैरोबी से रविवार सुबह जैसे ही मनंत और हिरल को पता लगा कि इथोपिया एयरलाइन का बोइंग 737 मैक्स-8 अदिस अबाबा से उड़ान भरने के चंद मिनटों बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया है, ब्रैंपटन स्थित इस गुजराती परिवार में सन्नाटा छा गया। इस परिवार ने अपनी तीन पीढ़ियों के लोग जो गंवा दिए थे। मनंत वैद्य ने मीडिया से बातचीत में कहा, ””उन्हें ग़ुस्सा नहीं, भारी पीड़ा यह है कि उसने पिता पन्नगेश (73), मां हंसिनी (63), बहन कोशा (37), जीजा प्रेरित दीक्षित (45) और उनकी दो बेटियाँ अश्का (14) और अनुष्का (13) को खो दिया है।

इन बच्चों को नैरोबी की सफ़ारी देखनी थी, तो मां और पिता अफ़्रीका में अपनी पुरानी यादें संजोने गए थे। मनंत वैद्य वर्ष 1990 में कनाडा सपरिवार आ गए थे, लेकिन उनके माता-पिता नौ साल बाद आए थे। इस दौरान पंजाबी बहुल ब्रैंपटन शहर में उन्होंने खासे रिश्ते बना लिए थे। यह ख़बर जैसे ही शहर में आग की तरह फैली, सिटी मेयर के आदेश पर इस परिवार के सम्मान में सिटी हाल पर झंडे झुका दिए गए। बच्चों के स्कूल में भी मातम पसर गया था। सोमवार और मंगलवार देर रात तक मिलने जुलने वालों का तांता लगा रहा। स्थानीय अख़बारों में ये ख़बरें प्रमुखता से छपीं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ख़ुद फ़ोन कर संवेदनाएं व्यक्त की। मनंत के अनुसार उन्हें नैरोबी में उनके मित्र ने जैसे ही विमान के दुर्घटना ग्रस्त होने की ख़बर दी, उन्हें कुछ देर तक तो भरोसा ही नहीं हुआ था। वह ख़ुद उन्हें शनिवार को टोरंटो अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट तक छोड़ने गए थे।

हिरल वैद्य ने मीडिया को बताया कि उनकी सास पूजा-पाठ में बहुत आस्था रखती थीं। वह कृष्ण की भक्त थीं। उनके ससुर इन सर्दियों के कारण ज़रूर परेशान रहते थे, लेकिन वह कहते थे कि बेहतर है सब मिलजुल कर एक छत के नीचे रह रहे हैं। मनंत के लिए इस समय बड़ी समस्या यह है कि वह अपने इस परिवार की शिनाख्त कैसे कर पाएंगे। वह अपने माता-पिता सहित अन्य सभी का दाह संस्कार गुजरात में अपने पैतृक निवास स्थल पर करना चाहते हैं। इसका एक ही उपाय बताया जा रहा है कि वह उनके दांतों के डीएनए टेस्ट से अपने माता पिता की पहचान कर पाएं। इथोपिया एयरलाइन के बोईंग 737 मैक्स 8 माडल के जिस विमान की दुर्घटना हुई, उसे लेकर अमेरिका को छोड़ कर भारत सहित दुनिया भर में इस माडल के सभी विमानों की उड़ानें रद्द कर दी गई हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Bitnami