देशदेश-दुनियाराजनीतिकराज्य

एक और ‘हमला’ कराने के लिए लोकसभा चुनाव को खींचा जा रहा लंबा: ममता

कोलकाता। लोकसभा चुनाव की प्रकिया लंबी खींची जाने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि ऐसा जानबूझ कर किया गया है। एक विवादित टिप्पणी में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने सोमवार को कहा कि लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया को लंबा इसलिए खींचा गया है ताकि भाजपा बंगाल को परेशान करने की अपनी योजना के तहत एक और हमला (स्ट्राइक) करा सके। राज्य में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता ने यह भी कहा कि लोकसभा चुनावों के लिए उनकी पार्टी के उम्मीदवारों की सूची मंगलवार को जारी कर दी जाएगी। ममता ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि कुछ वरिष्ठ पत्रकारों ने मुझे बताया है कि एक और हमला (स्ट्राइक) होगा। मैं नहीं कह सकती कि किस तरह का हमला।

अप्रैल में तथाकथित….तथाकथित….तथाकथित के नाम पर। इसी वजह से यह (मतदान की प्रक्रिया) 19 मई तक जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि कृपया मुझे गलत तरीके से पेश नहीं करें। चुनाव आयोग जैसी संवैधानिक संस्था के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है। लेकिन पश्चिम बंगाल में माहौल खराब करना भाजपा की योजना का हिस्सा है। तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो की टिप्पणियों को भारत की ओर से की जा सकने वाली संभावित सैन्य कार्रवाई की तरफ इशारा माना जा रहा है।

ममता के आरोप बेबुनियाद: BJP
ममता के बयान पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए भाजपा ने उनके आरोप को ‘‘बेबुनियाद’’ करार दिया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने बताया कि बेबुनियाद आरोप लगाना उनकी आदत है। वह हवा में बातें करती हैं। यदि उनके पास सबूत है तो उन्हें इसे सार्वजनिक करना चाहिए।’’ पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों की शहादत और उसके बाद भारतीय वायुसेना की ओर से पाकिस्तान के बालाकोट में किए गए हवाई हमले को लेकर ममता ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर ‘‘युद्ध उन्माद’’ पैदा करने का आरोप लगाया था। ममता ने यह भी कहा था कि जवानों की जिंदगी चुनावी राजनीति से कहीं ज्यादा कीमती है, लेकिन देश को जानने का हक है कि वायुसेना के हमले के बाद बालाकोट में दरअसल हुआ क्या।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Bitnami